रतन टाटा – प्रेरणादायी जीवनी

Ratan Tata Motivational Biography In Hindi – रतन टाटा भारत के जानेमाने उद्योगपतियों में से एक है | Tata Sons, Tata Group (मुंबई, महाराष्ट्र)  के  वे पूर्वअध्यक्ष रह चुके है | रतन टाटा की ये जीवनी उनका बचपन, जीवन और उनका  कार्य  इसके बारेमे विस्तृत जानकारी देती है |

 

ratan-tata-motivational-biography-in-hindi
Ratan Tata

रतन टाटा – एक दृष्टिक्षेप ( Ratan Tata Motivational Biography In Hindi )

नाम                                   :  रतन नवल टाटा

राष्ट्रीयत्व                             :  भारतीय

जन्म                                   :  डिसेम्बर २८ , १९३७

जन्मस्थल                            :  सूरत ,गुजरात

राशी                                   :  मकर

संस्थापक / सह-संस्थापक   : टाटा डोकोमो, टाटा टेलीसर्विसेज

शिक्षा                                   : कॉर्नेल विश्वविद्यालय, हार्वर्ड बिजनेस स्कूल, हार्वर्ड विश्वविद्यालय, बिशप कपास स्कूल, कैथेड्रल और जॉन कॉनन स्कूल, कैंपियन स्कूल

पुरस्कार 

पद्मभूषण २०००

पद्मविभूषण  २००८

ओस्लो बिजनेस फॉर पीस अवार्ड (२०१०)

Honorary Knight Grand Cross Of The Order Of The British Empire (2014)

ratan-tata-motivational-biography-in-hindi
Ratan Tata Awarded with PadmBhushan Award

 

रतन टाटा प्रमुख भारतीय उद्योगपतियों में से एक है, जो भारत के सबसे बड़े टाटा समूह की कंपनियों  के पूर्व अध्यक्ष हैं | जब उनकी उम्र १० साल थी  तब उनके माता पिता अलग हो गए | तभीसे  उनकी दादीने उनका पालन पोषण किया | उनको पढाया लिखाया और स्नातक स्तर की पढाई पूरी करने के बाद वों परिवार के कारोबार में सक्रीय हो गए | बाद में टाटा स्टील कंपनी को आगे बढाने  के लिये उन्हें  जमशेदपुर जाना पडा | १९८१ में जे आर डी टाटा ने रतन टाटा को अपने उद्योगों का उत्तराधिकारी घोषित किया | जैसेही रतन टाटा टाटा ग्रुप के अध्यक्ष बने टाटा ग्रुप अनेक उचाईयो को छुने लगा | इससे देश में और उसके साथ साथ विदेश में  भी उन्होंने टाटा ग्रुप की पहेचान करवा के दी | Tetley, Jaguar Land Rover and Corus  के अधिग्रहण में भी उन्होंने मुख्य भूमिका निभायी |

 

जैसे वों एक सफल व्यावसायिक है वैसेही वों परोपकारी भी है | उन्होंने 60% से जादा हिस्से को धर्मार्थ ट्रस्ट में निवेश किया है |अपने अग्रणी विचारों और सकारात्मक दृष्टिकोण के माध्यम से, वह सेवानिवृत्ति के बाद भी अपने समूह के लिए एक मार्गदर्शक बल के रूप में कार्य कर रहे  है।

 

प्रमुख कार्य 

  • टाटा समूह के जब वे अध्यक्ष थे तब उन्होंने समूह को अंतरराष्ट्रीय मान्यता और प्रतिष्ठा प्राप्त करवा के दी 

 

  • अपने कुशलपूर्वक नेतृत्व से उन्होंने कंपनी को वित्तीय सफलता प्राप्त करवा के दी | ये सफलता के कारणही  टाटा समूह न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में आया |

 

ratan-tata-motivational-biography-in-hindi
पंतप्रधान नरेंद्र मोदी समवेत रतन टाटा

व्यक्तिगत जीवन 

रतन टाटा  सालों से मुम्बई के कोलाबा जिले में एक फ्लैट में अकेले रहते है। रतन  टाटा मानते हैं कि व्यापार का अर्थ सिर्फ लाभ  कामाना नहीं बल्कि समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को भी समझना है |

Ratan Tata Motivational Biography In Hindi ये लेख जैसे और अधिक लेख पढने के लिये निचे दिए link को click करे   :-